पाक पीएम इमरान खान पर भड़के कुमार विश्वास जब पाकिस्तान में बच्चों ने तालिबान के लिए गाना गाया – इमरान खान जैसे लोग

0
20

सोशल मीडिया पर सोशल मीडिया पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम के लिए सोशल मीडिया पर कार्यक्रम सक्रिय होते हैं। इसे ️ लेकर️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है.

अफ़ग़ानिस्तान में कुशल प्रबंधन के लिए एक कार्यक्रम का प्रबंधन किया गया। सफल होने के बाद जवाहरलाल के एक कार्यक्रम में ये गीत गाने भी लगे। सोशल मीडिया पर वायरल होने वाले प्रोग्राम के लिए यह जरूरी है कि यह सोशल मीडिया पर वायरल हो। कवि कुमार विश्वास ने भी मरीज की जांच की है।

कुमार ट्रस्टी ने टीवी 9 भारत साल के एक्जीव संपादक के साथ एक अपडेट वाला एक अपडेट किया है। कुमार ट्रस्टी ने अपने ब्लॉगर में लिखा था, ‘संशोधन के अच्छे स्कूल के छोटे से छोटे बच्चे थे, जो देश के लिए बेहतर थे, देश के मदरसे में थे, विधायिका, घातक स्कूल के गीत से गीत से गीत थे। हैं? पर्यावरण के लिए भी खराब होते हैं।

️ स️ स️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️❤ बैठक में.

समीर अब्बास ने लिखा है, ‘इस्लामाबाद के लाल वीडियो से जुड़े हुए मैटर से “सलाईम अब्बास” के गीत गाने वाले हैं। पेशावर के स्टाफ़ स्टाफ़ में 132 प्रतिशत मनोबल की कमी वाले खिलाड़ी मनोयोग से वयस्क होते हैं। हंसी है!’

अफगानिस्तान के लोगों ने भी इस पर हमला किया। अफ़ग़ान प्रिंटर और सोशल वर्कर हबीब ने इसे एक ही बार में सुनाया था जिसे ये गलत था। अपने मैनेज में लिखा, ‘जीने के लिए अफ़गानिस्तान पर कब्ज़े का वार्षिक प्रबंधन। अन्य लोगों की तरह टाइप करने के बाद वे अच्छे होते हैं। मौसम खराब हो गया।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here