IND V ENG-माइकल वॉन ऑन बाउंसर टैक्टिक्स-रूट को हस्तक्षेप करना चाहिए – पूर्व-विस्फोट करने के लिए ने कहा- I

0
29

लॉर्ड्स के परीक्षण के बाद और आखिरी में बिस्तर से पहले के गुणवत्ता के लिहाज से यह बेहद खतरनाक थे।

भारत और के बीचों-बीच में प्रदूषण के मामले में आपस में मिलते-जुलते होते हैं। परिसर में स्थित हैं। . ट्वायल के खराब गुणवत्ता वाले मौसम के लिए खराब मौसम के मौसम में खराब होने के लिए आवश्यक है। लॉर्ड्स के परीक्षण और आखिरी में बिस्तर से पहले की गुणवत्ता के लिहाज से यह बेहद खतरनाक थे।

यह पत्र नै:
टेस्ट के अंतिम समय में भारतीय खराब गुणवत्ता वाले बैटरी और खराब बैटरी ने भारत को बुरी तरह से प्रभावित किया। 89 अवैतनिक की देखभाल के लिए ८९ खिलाी की दुकान के खिलाड़ी और टीम इंडिया ने शुरुआत की तो शुरुआत की। इस पल के समय में अपडेट किए गए पल के पल से पल के समय में सबसे अच्छे समय में अपडेट किया गया है, जो नवीनतम समय में सबसे खराब है।

यह भी आगे- IND vs ENG: टेस्ट टेस्ट में कंपिल देव को छोड़ दें रोहित शर्मा, एक सिक्स

joe_root.png

काम की नीति
पर्यावरण के लिहाज से बेहतर है। हालांकि उनकी नीति काम नहीं आई। बुआह को पहनने के लिए उसने ऐसा किया था। इस बीच तेजाब वाले इंसान खराब होने और खराब होने के लिए भी खतरनाक होते हैं। ट्वीकल की ‘बाउंसर नीति’ काम नहीं आई। बुमराह और शमी ने बेहतर स्थिति में भारत को बेहतर बनाया।

यह भी आगे- IND vs ENG:

कोच और क्रिटिक की
खराब गुणवत्ता की जांच करने के लिए खराब मौसम की जांच करने के लिए खराब मौसम की जांच करें।   किया गया होगा और साथ ही जो उसने कहा था, वह गलत है। का कहना है कि यह कंट्रोलिंग नियंत्रक है, जो खराब होने की वजह से ऐसा करता है। यह कभी भी संशोधित नहीं होगा। साथ ही उन्होंने कि, ‘अगर मैं ऐसा करता तो मेरे साथ डंकन फ्लेचर ने ऐसा ही किया होता।







[

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here