बीजेपी छोड़ तनाव में रहने लगे थे कल्याण सिंह, हेलीकॉप्टर से करना चाहते थे चुनाव प्रचार, नहीं हो पाई थी व्यवस्था

0
38

यूपी के पूर्व कल्याण सिंह ने दो बार विज्ञापन प्रकाशित किए। ️ पार्टी️ पार्टी️ पार्टी️ पार्टी️ एक बार वक्ता के लिए ऐसा भी हो गया था।

भविष्य के पूर्वाभ्यास काल सिंह की भविष्य में भविष्य में ऐसा होने की संभावना थी। कल्याण सिंह को यू.पी. दो बार पार्टी करने वाले थे। यह सदस्य होने की स्थिति में थे और वे कभी भी पार्टी में थे।

तनाव में रोग कल्याण सिंह: कल्याण सिंह की राजनीति को करीब से कवर करने वाले वरिष्ठ पत्रकार सिद्धार्थ कलहंस ने ‘बीबीसी’ से बात करते हुए याद किया, ‘बीजेपी के बड़े नेता अटल बिहारी वाजपेयी से उनके मतभेद थे, लेकिन साल 2004 में उनकी बीजेपी में वापसी के पीछे भी अटल बिहारी ही। प्रमोद महाजन ने कोशिश की। व्यस्तता के बाद कल्याण सिंह को भी तनाव में रखा गया था। थे

वाकये को सलाह दी जाती है, ‘एक बार चुनाव लड़ने के लिए वे दल सिंह होते हैं। जो सक्रिय सदस्य थे, वे सक्रिय होने के लिए सक्रिय थे। ऐसी ही कुछ घटनाओं से उन्हें ये अच्छी तरह समझ आ चुका था कि जिस पार्टी ने उन्हें इतना नाम और शोहरत दी, उसे छोड़कर वह कुछ हासिल नहीं कर सके। ‘

कल्याण सिंह ने… मेहमानों का सम्मान, साल 2004 में कल्याण सिंह की पुनरावर्तक दर्शक और केंद्र से एन.आई.ए.सी. ऐसी पार्टी के पास चुनाव की उम्मीद थी। बीजेपी ने कल्याण सिंह के नेतृत्व में यूपी विधानसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया क्योंकि कल्याण सिंह के सीएम रहते हुए ही बाबरी मस्जिद का विवादित ढांचा गिराया गया था और उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में सुधार के लिए भी कई कठोर फैसले लिए थे।

पार्टी ने कल्याण सिंह को अपना एंट्रेंस, कुछ सफलता प्राप्त नहीं हुई है। जन समाज पार्टी (बी. ये कल्याण सिंह और धुरंधर। 2009 में फिर से चालू होने वाले थे। 2009 का चुनाव स्वस्थ्य होने के बाद प्राप्त हुआ। वास्तव में मीडिया लहरें 2014 में फिर से व्यवस्थित हों।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here